Posts

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 2020

 हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति लाई गई जिसे सभी के परामर्श से तैयार किया गया है। इसे लाने के साथ ही देश में शिक्षा के पर व्यापक चर्चा आरंभ हो गई है। शिक्षा के संबंध में गांधी जी का तात्पर्य बालक और मनुष्य के शरीर, मन तथा आत्मा के सर्वांगीण एवं सर्वोत्कृष्ट विकास से है। इसी प्रकार स्वामी विवेकानंद का कहना था कि मनुष्य की अंर्तनिहित पूर्णता को अभिव्यक्त करना ही शिक्षा है। इन्हीं सब चर्चाओं के मध्य हम देखेंगे कि 1986 की शिक्षा नीति में ऐसी क्या कमियाँ रह गई थीं जिन्हें दूर करने के लिये नई राष्ट्रीय शिक्षा नति को लाने की आवश्यकता पड़ी। साथ ही क्या यह नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति उन उद्देश्यों को पूरा करने में सक्षम होगी जिसका स्वप्न महात्मा गांधी और स्वामी विवेकानंद ने देखा था? सबसे पहले ‘शिक्षा’ क्या है इस पर गौर करना आवश्यक है। शिक्षा का शाब्दिक अर्थ होता है सीखने एवं सिखाने की क्रिया परंतु अगर इसके व्यापक अर्थ को देखें तो शिक्षा किसी भी समाज में निरंतर चलने वाली सामाजिक प्रक्रिया है जिसका कोई उद्देश्य होता है और जिससे मनुष्य की आंतरिक शक्तियों का विकास

स्टॉकहोम घोषणा (1972)

अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण चेतना एवं पर्यावरण आंदोलन के प्रारंभिक सम्मेलन के रूप में 1972 में संयुक्त राष्ट्रसंघ ने स्टॉकहोम (स्वीडन) में दुनिया के सभी देशों का पहला पर्यावरण सम्मेलन आयोजित किया गया था। इस अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में 119 देशों ने भाग लिया और एक ही धरती के सिद्धांत को सर्वमान्य तरीके से मान्यता प्रदान की गई। 

जलवायु परिवर्तन एवं इसका प्रभाव

जलवायु परिवर्तन क्या हैं ? किसी स्थान विशेष के दीर्घकालीन मौसम संबंधी दशाओं के औसत को जलवायु कहते हैं यथा वायुमंडलीय दबाव, आर्द्रता, तापमान आदि। जलवायु सामान्यतः स्थिर रहती है, परंतु वर्तमान में स्थानिक एवं वैश्विक जलवायु में मानवीय एवं प्राकृतिक कारणों से परिवर्तन देखने को मिल रहा है जिसे जलवायु परिवर्तन कहते हैं।  जलवायु में दिखने वाले ये परिवर्तन लंबे समय का परिणाम है जिसके न केवल क्षेत्रीय एवं वैश्विक प्रभाव देखने को मिल रहे हैं बल्कि संपूर्ण विश्व जलवायु परिवर्तन से प्रभावित हो रहा है। https://www.testmyexams.in/2020/05/blog-post.html जलवायु परिवर्तन के साक्ष्य: जलवायु परिवर्तन पर अन्तर-सरकारी पैनल (IPCC) के अनुसार, बीसवीं शताब्दी के उत्तरार्द्ध में उत्तरी गोलार्द्ध का औसत तापमान विगत 500 वर्षों की तुलना में काफी अधिक था। हिमांकमंडल लगातार सिकुड़ रहा है पिछले दशक में अंटार्कटिका में बर्फ पिघलने की दर तीन गुना हो गई है। विगत शताब्दी में वैश्विक समुद्र स्तर में लगभग 8 इंच की वृद्धि देखी गयी है। महासागरों का अम्लीकरण भी इसकी पुष्टि करता है। वस्तुतः महासागरों की ऊपरी

ओडिशा कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग को बढ़ावा दे रहा है (Odisha Promotes Contract Farming)

समाचार में : हाल ही में, ओडिशा सरकार ने एक अध्यादेश की घोषणा की है जिससे निवेशकों और किसानों को अनुबंध कृषि के लिए एक समझौते में प्रवेश करने की अनुमति मिल गई है ।  https://www.testmyexams.in/ उद्देश्य:  अध्यादेश का उद्देश्य किसानों और प्रायोजकों दोनों को पारस्परिक रूप से लाभकारी और कुशल अनुबंध कृषि प्रणाली विकसित करना है।  किसानों के हित को बढ़ावा देते हुए कृषि उपज और पशुधन के उत्पादन और विपणन में सुधार की उम्मीद है।  अनुबंध कृषि अनुबंध में प्रतिभागी:  अनुबंध अनुबंध कृषि प्रायोजक (जो किसी भी घटक में भाग लेने की पेशकश करता है) या पूर्व उत्पादन सहित संपूर्ण मूल्य श्रृंखला, और अनुबंध कृषि उत्पादक (यानी जो किसान फसल का उत्पादन करने या पशुओं को पालने के लिए सहमत हैं) के बीच में प्रवेश किया जाएगा।  https://www.testmyexams.in/ अनुबंध खेती और सेवा समिति:  यह अनुबंध खेती के प्रदर्शन की समीक्षा करने और सरकार को इसके प्रचार और कुशल प्रदर्शन के लिए सुझाव देने के लिए एक "अनुबंध खेती और सेवा (संवर्धन और सुविधा) समिति" के गठन का भी उल्लेख करता है । अनुबंध खेती (Contract

आईएएस परीक्षा हेतु हिंदी प्रश्न अभ्यास [22-05-2020]

Q1. केप टाउन समझौते के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें, कभी-कभी समाचारों में देखा जाता है। 1. केपटाउन समझौते को संयुक्त राष्ट्र के कन्वेंशन ऑन द लॉ ऑफ सी (UNCLOS) ने अवैध, अनियमित और अनियंत्रित (IUU) मछली पकड़ने से निपटने में मदद के लिए अपनाया था। 2. यह मछली पकड़ने के जहाजों के लिए अनिवार्य सुरक्षा उपायों को पेश करना चाहता है। 3. भारत समझौते पर हस्ताक्षर करने और इसकी पुष्टि करने वाला पहला देश था। उपरोक्त कथनों में से कौन सा सही है / हैं? a.1, 3 b. केवल 2 c. 1, 2 d. 2, 3 Q2. Aadi Mahotsav 2019 के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें। 1. अनादि महोत्सव संस्कृति मंत्रालय और TRIFED (ट्राइबल कोऑपरेटिव मार्केटिंग डेवलपमेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया) की एक संयुक्त पहल है। 2. विदेशी हस्तशिल्प के अलावा महोत्सव ने आदिवासियों के इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल कौशल को भी प्रदर्शित किया। 3. प्रमुख शहरों में आदि महोत्सव आदिवासी कारीगरों के लिए एक वरदान साबित हुआ है क्योंकि यह मध्यम व्यक्ति को समाप्त करता है और बड़े बाजार तक सीधी पहुंच प्रदान करता है। उपरोक्त कथनों में से कौन सा सही है / ह

डेली कर्रेंट अफेयर्स 16-05-2020

डेली करंट अफेयर्स प्र्शन (आईएएस परीक्षा के लिए ) 15-5-2020